ऋषिकेश, बीन नदी के बीचो-बीच कुर्सी मेज डालकर चलता है खान-पान पानी हो रहा है दूषित नहीं हो रही कोई कार्रवाई कुंभकरण की नींद सोया वन विभाग

0
39

हरिद्वार, अगर आप घूमने फिरने और खाने के शौकीन हैं तो आईए हम ले चलते हैं आपको ऋषिकेश के चीला रेंज के विंध्यवासिनी मंदिर के पास जहां गंगा नदी की सहायक नदी बीन नदी बह रही है जिसके पास रेस्टोरेंट और रिसॉर्ट है लेकिन कुछ लोगों ने तो नदी के बीच में ही कुर्सी मेज डालकर ठंडी हवाओं के साथ खाने पीना शुरू कर दिया और बची हुईं सारी गन्दगी नदियों में फेंक दिया करते हैं जिससे नदी का पानी दूषित हो रहा है वही वन विभाग को शिकायत करने के बाद भी विभाग कुंभकरण दिन सोया हुआ है आखिरकार क्यों नहीं हो रही कार्रवाई

मिलि जानकारी अनुसार यमकेश्वर ब्लॉक के चीला रेंज अंतर्गत प्राचीन सिद्धपीठ मंदिर विंध्यवासिनी है। बैराज से मंदिर की दूरी करीब 12 किमी है। वर्षभर इस मंदिर में श्रद्धालुओं की आवाजाही रहती है। इसी मंदिर की तलहटी पर बीन नदी बह रही है। आसपास क्षेत्र में होटल, ढाबा और रिजॉर्ट हैं।

मंदिर में दर्शन और घूमने पहुंचने वाले लोगों को अपनी दुकानों की ओर खींचने के लिए स्थानीय दुकानदारों ने बीन नदी में मेज-कुर्सी लगाए हैं। लोग इनमें बैठकर खाना खाते हैं। यही नहीं लोग नदी में प्लास्टिक बहाते हैं। दुकानों की गंदगी भी नदी में ही बहाई जाती है। बीन नदी गंगा की सहायक है। वन कर्मचारियों की टीम मौके पर भेजी जाएगी। नदी के ऊपर मेज-कुर्सी लगाने वाले दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here