करोनो के बढ़ते मामले देखते दिल्ली सरकार ने प्राइवेट दफ्तर बंद और भी कई प्रतिबंध लागू

0
33

हरिद्वार, देश में करोनो बहुत तेजी से फैल रहा है वह दिल्ली में आज भी 21000 नए मामले सामने आए हैं जिसमें 23 लोगों की मृत्यु हो गई बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने मंगलवार को कई नए प्रतिबंधों का ऐलान किया है। इसके तहत दिल्ली में सभी निजी/प्राइवेट कार्यालय बंद रहेंगे और वर्क फ्राम होम को तरजीह मिलेगी। डीडीएमए की तरफ से मंगलवार को जारी की नई गाइडलाइन में कहा गया है कि जरूरी सेवाओं से जुड़े दफ्तरों को छोड़कर सभी प्राइवेट/निजी दफ्तर बंद किए जाएंगे। इसका मकसद कोरोना के खतरे के साथ उसके विस्तार को भी कम करना है।

मिली जानकारी अनुसार आज मंगलवार को डीडीएमए के ताजा आदेश में कहा गया है कि दिल्ली में सिर्फ छूट की श्रेणी में आने वाले लोगों को छोड़ कर सभी निजी/प्राइवेट कार्यालय बंद होंगे। ऐसी स्थिति में वर्क फ्राम होम का पालन किया जाएगा। सभी रेस्तरां और बार बंद रहेंगे और टेकअवे की अनुमति का आदेश भी जारी किया गया है। अभी तक रेस्तरां को उनकी बैठने की क्षमता के 50 प्रतिशत पर सुबह आठ से रात 10 बजे तक डाइन-इन सुविधा संचालित करने की अनुमति थी। इसी तरह बार को भी दोपहर 12 से रात 10 बजे तक 50 प्रतिशत बैठने की क्षमता के साथ खोलने की अनुमति मिली हुई थी। इसके अलावा नगर निगम के प्रत्येक जोन में प्रतिदिन एक ही साप्ताहिक बाजार को अनुमति मिलेगी।

प्राइवेट ऑफिस अभी तक 50 प्रतिशत स्टाफ के साथ काम कर रहे थे, उनसे अब वर्क फ्रॉम होम शुरू करने को कहा गया है। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) द्वारा जारी आदेश के तहत दिल्ली के बार और रेस्तरांओं को बंद कर दिया गया है। बहरहाल, रेस्तरां को घर पर भोजन पहुंचाने की सुविधा देने की अनुमति है। इसके अलावा लोग रेस्तरां से खाना पैक कराकर ले जा सकते हैं। शहर के सरकारी ऑफिस अभी तक 50 प्रतिशत कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ काम कर रहे हैं।

केंद्र ने पूरे एनसीआर में पाबंदियां लगाने का दिया आश्वासन : केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि केंद्र के प्रतिनिधियों ने दिल्ली सरकार को आश्वासन दिया है कि राजधानी में लगाए गए कोविड से संबंधित प्रतिबंधों को पूरे एनसीआर में लागू किया जाएगा। केजरीवाल ने कहा कि इस बात का पूर्वानुमान लगाना मुश्किल है कि कोरोना वायरस की तीसरी लहर चरम स्थिति पर कब पहुंचेगी। उन्होंने कहा कि सरकार को मजबूरी में प्रतिबंध लगाने पड़े हैं और दोहराया कि पूर्ण लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा।

केजरीवाल ने लोक नायक अस्पताल में पत्रकारों से कहा कि दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) की बैठक में हमने केंद्र के प्रतिनिधियों से कहा कि सिर्फ दिल्ली में ही नहीं बल्कि पूरे एनसीआर में पाबंदियां लागू की जाएं। उन्होंने हमें आश्वासन दिया है कि दिल्ली में लागू प्रतिबंधों को क्षेत्र में लागू किया जाएगा। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि इस बात का पूर्वानुमान नहीं लगाया जा सकता है कि महामारी की तीसरी लहर कब शीर्ष पर पहुंचेगी। उन्होंने कहा कि बीते तीन दिनों से दैनिक मामले 20-22 हजार के बीच आ रहे हैं और संक्रमण दर 24-25 प्रतिशत है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि मामले बढ़ेंगे नहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here