हरिद्वार, आनंद गिरि को लेकर सीबीआई हरिद्वार पहुंची नरेंद्र गिरी के मौत के मामले में हो रही जांच

0
27

हरिद्वार, आज महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले मे आनंद गिरी को लेकर सीबीआई हरिद्वार पहुंची वहीं इससे पहले देहरादून पुलिस ने आश्रम में रह रहे सेवादारों से पूछताछ की थी वही मौत के बाद आश्रम को सील कर दिया गया था जिसके बाद सीबीआई ने हरिद्वार के गाजीवाली स्थित आनंद गिरि के आश्रम के सेवादारों से पूछताछ की। सीबीआइ ने उनसे आश्रम में आने-जाने वालों के बारे में जानकारी ली। साथ ही, आश्रम सील होने के बावजूद सीसीटीवी की डीवीआर चोरी होने की भी जानकारी ली।भी सीसीटीवी की डीवीआर चोरी कर ली गई

मिलि जानकारी अनुसार 20 सितंबर देर रात उनके शिष्य आनंद गिरि को उत्तर प्रदेश पुलिस गाजीवाली स्थित आश्रम से गिरफ्तार कर प्रयागराज ले गई थी। सीबीआइ देहरादून की टीम ने बुधवार को गाजीवाली में आनंद गिरि के आश्रम के समीप ही किराये में रहने वाले सेवादारों से पूछताछ की। बताया जा रहा है कि उसकी यह कार्रवाई प्रयागराज से सीबीआइ के पहुंचने से पहले उसकी मदद को अहम सुराग जुटाने के तहत की गई है

मई में गुरु से विवाद होने के बाद श्यामपुर के कांगड़ी स्थित आनंद गिरि के आश्रम को हरिद्वार-रुड़की विकास प्राधिकरण (एचआरडीए) ने सील कर दिया था। इसके बाद आनंद गिरि को हरिद्वार के एक आश्रम के परामाध्यक्ष ने शरण दी थी। टीम आनंद का मोबाइल और लैपटॉप बरामद करने के लिए हरिद्वार आई है। वहां उनके आश्रम में तलाशी करके वांछित सामानों की बरादमगी भी की जाएगी। उनके लैपटॉप और मोबाइल में नरेंद्र गिरि के अश्लील वीडियो संबंधित साक्ष्य मिलने की उम्मीद है। सीबीआई उसे कब्जे में लेकर फोरेंसिक जांच कराएगी।सीबीआई की दूसरी टीम आद्या तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी से पुलिस लाइन में पूछताछ कर रही है। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में आरोपी बनाए गए आनंद गिरि, आद्या तिवारी और संदीप तिवारी को जांच एजेंसी ने कोर्ट के आदेश पर मंगलवार को सात दिन के लिए कस्टडी रिमांड पर लिया था।इन तीनों के खिलाफ महंत नरेंद्र गिरि ने अपने सुसाइड नोट में मौत का जिम्मेदार बताया था। 24 घंटे से अधिक समय तक आनंद गिरि को कस्टडी में रख, पूछताछ करने के बाद बुधवार दोपहर सीबीआई टीम उन्हें लेकर पुलिस लाइन से पीछे के रास्ते निकली। लगभग ढ़ाई बजे तक वह एयरपोर्ट पहुंच गई। वहां पर सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here