हरिद्वार,बायोमेट्रिक मशीन से राशन देने पर राशन विकर्ताओ मे नारजगी

0
11

हरिद्वार,आज राशन विक्रेताओं ने आर्य नगर चौक पर एक होटल में आयोजित बैठक की जिसमें बायोमेट्रिक को लेकर सभी राशन विक्रेताओं में नाराजगी दिखाई दी उन्होंने कहा है कि जब से बायोमेट्रिक मशीन लागू हुई है तब से दुकानदारों के लिए सिरदर्द बन गई है। कई लोगों के अंगूठे के निशान नहीं आते ऐसे में वे राशन विक्रेताओं से विवाद करते हैं।

मिली जानकारी अनुसारप्रदेश में राशन की सभी दुकानों में बायोमीट्रिक के माध्यम से ही खाद्यान्न का वितरण किया जाएगा। हर महीने की 20 तारीख तक खाद्यान्न बांटा जाएगा। ऐसा नहीं होने की स्थिति में संबंधित राशन विक्रेता के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।बगैर बायोमीट्रिक व्यवस्था के खाद्यान्न नहीं बांटा जाएगा। यह चेतावनी दी गई थी कि बायोमीट्रिक के बगैर राशन वितरण करने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाए जाएंगे। प्रदेश में कुल 23.80 लाख राशनकार्डधारक यानी 61.94 लाख यूनिट हैं।

आज आर्य नगर चौक एक होटल में आयोजित बैठक में जिलाध्यक्ष नरेंद्र शर्मा ने कहा कि जब से यह बायोमेट्रिक मशीन लागू हुई है दुकानदार परेशान है किसी के अंगूठे का नाते हैं तो किसी के नहीं जिसको लेकर हर रोज लड़ाई झगड़े होते रहते हैं उन्होंने कहा कि इस बात को जिला पूर्ति अधिकारी को अवगत कराया। लेकिन उन्होंने भी मजबूरी जताते हुए सरकार से ही बायोमेट्रिक से राशन बांटने के आदेश बताकर हाथ पीछे खींच लिए हैं। उन्होंने कहा कि अंगूठे का निशान न मिलने पर उस परिवार से दूसरा आदमी दुकान में आकर लड़ाई झगड़े पर उतारू हो जाता है। ऐसे में क्या विकल्प निकल सकता है यह विभाग को सोचना होगा। बैठक में हरिद्वार से महामंत्री प्रदीप अग्रवाल, कोषाध्यक्ष सुभाष जैन, उपाध्यक्ष महाराज किशन सेठ, नाथीराम सैनी, विपिन शर्मा, नारसन से सुनील शर्मा, कपिल कुमार, नगला ईमरती से रघुवीर सिंह, रुड़की से जरीफ अहमद, कुलदीप, भगवानपुर से राव एजाज खान, प्रीतम सैनी, ब्लॉक रुड़की से अनीश, गौरव व संजय, संदीप, सैदपुर लक्सर से मांगेराम, लक्सर से मैनपाल, बहादराबाद से राकेश गुप्ता, भीक्कमपुर से कैशोराम, मंगलौर से शोभित गुप्ता, नौशाद, हरिद्वार से नाथीराम सैनी, राजेंद्रनाथ नाथ गोस्वामी, विशाल सैनी, शिवकुमार आर्य, राजीव गौड़, कमल शर्मा, सुरजीत सिंह, वीरेंद्र त्यागी शामिल रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here