हरिद्वार, रुड़की देवबंद नई रेलवे लाइन के मुआवजे के लिए केंद्र ने दिए 28करोड़ 31लाख

0
31

हरिद्वार, काफी लंबे समय से देवबंद से रुड़की नई रेलवे लाइन के लिए गांवो की भूमि अधिकृत की गई जमीन का करीब 28 करोड़ रुपये किसानों को नही मिला था जिसके लिए आज केंद्र ने 28करोड़ 31लाख रुपए पास कर दिया है

मिली जानकारी अनुसार रहीमपुर, पनियाला, भिस्तीपुर, साल्लापुर के लगभग 80 किसानों की जमीन रुड़की-देवबंद रेल लाइन के लिए अधिग्रहित की गई है। इन किसानों को नए सिरे से 28 करोड़ 31 लाख रुपये भूमि अधिग्रहण का मुआवजा दिया जाना है जिसके लिए मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने अपने प्रयासों के द्वारा केंद्र सरकार से बात की थी जिसके लिए केंद्र सरकार का आभार जताया

मुजफ्फरनगर से रुड़की तक रेलवे लाइन बनाने की मांग दो दशक पुरानी है। पांच साल पहले केंद्र सरकार ने देवबंद से रुड़की तक नई रेल लाइन बनाने की घोषणा की थी। चार साल पहलेे इस नई रेलवे लाइन की परियोजना पर कार्य शुरू हो गया था। करीब 691 करोड़ की लागत की इस नई रेल लाइन परियोजना को 2021 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन कोरोना संक्रमण काल और मुआवजे को लेकर किसानों से समझौते नहीं होने से काम बीच में रुक गया था। गत वर्ष से जिला प्रशासन भूमि अधिग्रहण और मुआवजे से संबंधित मामलों का निस्तारण कर रहा था। एसडीएम देवबंद दीपक कुमार ने बताया कि देवबंद-रुड़की रेल लाइन में मंझौल और दुनीचंदपुर में जमीन के मुआवजे का विवाद था, जिसे निपटा दिया गया है। 90 प्रतिशत किसानों को मुआवजा दे दिया गया है। बिजली लाइन की शिफ्टिंग का भी कार्य करीब पूरा हो गया है। अब कोई बाधा नहीं रही। रेलवे की भूमि को कब्जा मुक्त कराने का कार्य भी लगातार जारी है। रेलवे ने गांव बंहेड़ा और जाटौल में रेलवे लाइन निर्माण का कार्य शुरू कर दिया है। इन दोनों स्थानों पर मिट्टी डाल कर ट्रैक के लिए बेस तैयार होने लगा है।

27.45 किलोमीटर बनेगी नई रेल लाइन देवबंद से रुड़की तक 27.45 किलोमीटर लंबी यह रेलवे लाइन बननी है। जनपद सहारनपुर के 14 ग्रामों से 17 किलोमीटर रेलवे लाइन बनाई जाएगी। इन ग्रामों में 919 किसानों की 86.26 हेक्टेयर भूमि अधिग्रहीत की गई है। हरिद्वार जनपद में करीब 11 किलोमीटर रेलवे लाइन बनाई जाएगी, जिसके लिए 11 ग्रामों के किसानों की 51 हेक्टेयर भूमि अधिग्रहीत की गई है।

33 किलोमीटर दूरी हो जाएगी कम देवबंद से रुड़की तक नई रेल लाइन बनने से यात्रियों को इसका लाभ होगा। दिल्ली से रुड़की तक की दूरी 33 किलोमीटर कम हो जाएगी। ट्रेन अभी तक रुड़की वाया टपरी होकर जाती है। नई लाइन बनने से देवबंद से सीधे रुड़की जाएगी। दूरी कम होने पर यात्रा में समय बचेगा और किराया भी कम होगा।

इन गांवों से होकर गुजरेगी ट्रेनई रेलवे लाइन जनपद के 14 ग्रामों जाटौल, मंझौल जबरदस्तपुर, नियामत, बंहेड़ा खास, माजरी, साल्हापुर, राजपुरउर्फ रामपुर, दुनीचंदपुर, असदपुर करंजाली, चकराम बाडी, दिवालहेड़ी, नूरपुर, देबवंद हदूद से होकर गुजरेगी।

–देवबंद-रुड़की रेलवे लाइन परियोजना में अब कोई बाधा नहीं है। भूमि अधिग्रहण का कार्य पूरा हो गया है। 90 प्रतिशत किसानों को मुआवजा दिया जा चुका है, शेष को देने की प्रक्रिया चल रही है। गांव बंहेड़ा और जाटौल में रेलवे लाइन के निर्माण का कार्य शुरू हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here