बग्गा की गिरफ्तारी के बाद भाजपा का आप के कार्यालय पर प्रदर्शन

0
13

हरिद्वार,राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को भाजपा कार्यकर्ताओं ने भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के राष्ट्रीय मंत्री तेजिंदर पाल सिंह बग्गा की गिरफ्तारी को लेकर नाराजगी जताई। सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में आम आदमी पार्टी के मुख्यालय के पास प्रदर्शन करने की कोशिश की। हालांकि दिल्ली पुलिस ने कार्यकर्ताओं को मुख्यालय के पास जाने से रोक दिया। भाजपा कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए दिल्ली पुलिस ने कई जगह पर लोहे की बैरिकेटिंग की थी। इसमें पुलिस व भाजपा कार्यकर्ताओं व नेताओं के बीच काफी धक्कामुक्की भी हुई।

मिली जानकारी अनुसार बग्गा को पंजाब में दर्ज एक मामले में शुक्रवार सुबह पश्चिमी दिल्ली स्थित उनके आवास से गिरफ्तार किया गया था। आम आदमी पार्टी (आप) ने उन पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को धमकी देने का आरोप लगाया है। बग्गा की गिरफ्तारी की परिस्थितियों से अवगत कराने के लिए हरियाणा के पुलिस महानिदेशक के साथ एक पत्र और एफआईआर की एक कॉपी साझा की जा रही है। पंजाब पुलिस भी अपहरण के आरोपों से इनकार किया है।

हालांकि, बग्गा के परिवार ने कहा कि गिरफ्तारी के बारे में दिल्ली पुलिस को सूचित नहीं किया गया था। न्यूज एजेंसी एएनआई द्वारा शेयर किए गए फोटो में पंजाब पुलिस के कर्मियों को बग्गा के साथ दिल्ली पुलिस स्टेशन में बैठे हुए दिखाया गया है। बीजेपी नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा के पिता प्रीत पाल सिंह बग्गा की शिकायत पर दिल्‍ली के जनकपुरी थाने में धारा 452, 365, 342, 392, 295 34 के तहत FIR दर्ज की गई, जिसमें उनके बेटे की गिरफ्तारी से पहले की घटनाओं पर तत्काल कार्रवाई की मांग की गई थी. वहीं, बीजेपी नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा की गिरफ्तारी पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने आम आदमी पार्टी के कार्यालय के बाहर जमकर विरोध प्रदर्शन किया है. पुलिस ने भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है.

दिल्ली पुलिस का प्रतिनिधित्व करने वाले एएसजी सत्य पाल जैन ने कहा, तजिंदर पाल सिंह बग्गा के पिता द्वारा जनकपुरी थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी कि कुछ लोगों ने उनके बेटे को जबरदस्ती उठा लिया. दिल्ली पुलिस को द्वारका कोर्ट से तलाशी वारंट मिला और पता चला कि हरियाणा पुलिस ने उन्हें पिपिली के पास पकड़ा. दिल्ली पुलिस बग्गा को लेकर वापस चली गई, आगे की कार्रवाई की जाएगी. हमने पंजाब पुलिस से किसी को गिरफ्तार या हिरासत में नहीं लिया है. उन्होंने उसे गिरफ्तार करने से पहले दिल्ली पुलिस को सूचित नहीं किया और खुद उसे हिरासत में ले लिया. कल सुबह 10 बजे होगी मामले की सुनवाई होगी.

FIR में यह भी कहा गया है कि तेजिंदर बग्गा ने उनसे से आग्रह किया कि वे उसे ले जाने से पहले पगड़ी पहनने दें, लेकिन उन्होंने उसे खींच लिया. प्रीत पाल का कहना है कि उसे शक है कि उसके बेटे को मार दिया जा सकता है और इसलिए उन्होंने अनुरोध किया कि उसकी जान बचाई जाए.

तजिंदर पाल बग्गा भाजपा की युवा शाखा के राष्ट्रीय सचिव हैं। वह दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता भी हैं। पंजाब पुलिस ने शुक्रवार को दावा किया कि बग्गा अपने खिलाफ दर्ज मामले की जांच में शामिल नहीं हुए थे। ‘आप’ के मुताबिक बीजेपी नेता ने पहले भी कोर्ट से राहत पाने की कोशिश की थी, लेकिन कोर्ट ने राहत देने इनकार कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here